lord shiva

सभी शिव भक्तों का स्वागत है shayarallinone पर! आज हम बात करेंगे lord shiva के बारे में! अगर आपको किसी पर ईश्वर पर विश्वास है तो यह पोस्ट आपके लिए है! शिवजी कौन है?? शिव जी का अवतार क्यों हुआ?? शुरू करते है आज का आर्टिकल lord shiva.

lord shiva kon hai?? about lord shiva

भगवान शिवा को समझने के लिए त्रिदेवों से परिचित होना पड़ेगा! १. ब्रह्मा २. विष्णु ३. महेश!
ब्रह्मा जिन्होंने सृष्टि की रचना की! विष्णु सृष्टि को संचालित करने वाले! महेश अर्थात lord shiva सृष्टि के संहारकर्ता है! शिवा जो विनाश करके सृष्टि का संतुलन बनाये रखते है! भगवान शिव अजन्मे है, भगवन शिव का ना आदि है ना ही कोई अंत है! भगवान शिव अविनाशी है! पञ्च भूतों के नाथ भूतनाथ है!

lord shiva

shiv ji ka janm kese hua??|shiva god

यह बात तब की है जब संसार का निर्माण नहीं हुआ था! शून्य के अतिरिक्त कुछ नहीं था! उस समय नारायण का अवतार हुआ! हज़ारों वर्ष बीत जाने पर भगवान नारायण की नाभि नाभी से कमल उत्पन्न हुआ जिससे भगवान ब्रह्मा जी हुए उस वक्त भगवान ब्रह्मा की दृष्टि नारायण जी पर पड़ी! तभी उन दोनो में विवाद हुआ की श्रेष्ठ कौन?? उस समय lord shiva अग्निस्वरूप लिंग के रूप में प्रकट हुए! और उन्होंने कहा आप दोनों में सो जो भी इस लिंग के अंतिम छोर तक पहुंच जायेगा वो ही सर्वश्रेष्ठ होगा!

अब ब्रह्मा जी और नारायण जी तैयार हुए और ब्रह्मा जी ऊपर की और नारायण जी निचे की और अंतिम छोर की तलाश में निकल गए! लेकिन दोनों में से किसी को भी लिंग का अंतिम छोर नहीं मिला! यह अनंत है अनंत ज्ञान की तरह! तब अग्निस्वरूप लिंग में शिव भगवान् प्रकट हुए! और ब्रह्मा जी से नारायण जी से कहा आप दोनों का जन्म इसी अग्निस्तम्भ से हुआ है इसकी ऊर्जा मुझसे हुआ है!

शिव नाम का अर्थ |lord shiva name meaning

शि ध्वनि का अर्थ है ऊर्जा या शक्ति व” ध्वनि का अर्थ वाम से लिया गया है जिसका अर्थ है प्रवीणता दोनों ध्वनि को मिलाने पर शिव बना! शिव का एक और अर्थ है कल्याण! जो सदा कल्याण करे वो शिव है!

lord shiva 108 name | भगवान शिव के 108 नाम

1 महाकाल 2 कालकालय 3 ज्योतिर्लिंगाय 4 लिंगरूपाय 5 महालिंगाय 6 महाभूताय 7 भूतनाथाय 8 आदिनाथाय 9 आशुतोषाय 10 अमृताय 11 पंचवक्त्राय 12 त्रिनेत्राय 13 त्रिशूलधराय 14 वृषभदध्वजाय 15 विषधराय 16 बिल्वधराय 17 जटाधराय 18 गंगाधराय 19 जटाधराय 20 गजचर्मधाराय 21 भुजंगप्रियाय 22 नन्दीश्वराय 23 चण्डीश्वराय 24 चंद्र्शेखराय 25 हराय 26 अघोराय 27 घोरघोराय 28 कामदहनाय 29 कलविकर्णाय 30 बलविकर्णाय 31 बलाय 32 बलप्रथमनाय 33 सर्वभूतदमनाय 34 शम्भवाय 35 मयोभवाय 36 शंकराय 37 मयस्कराय 38 शिवाय 39 शिवतराय 40 सर्वेश्वराय 41 सदयोजाताय 42 वामदेवाय 43 तत्पुरुषाय 44 महादेवाय 45 महेश्वराय 46 महामंगलाय 47 नीलकण्ठाय 48 निराकाराय 49 दिगम्बराय 50 दूषणदहनाय 51 दक्षिणमुखाय 52 तंत्रेश्वराय 53 मंत्रेश्वराय 54 यंत्रेश्वराय

दिए गए लिंक पर क्लिक करके आप भगवान शिव के स्टेटस देख सकते है : Mahadev Status

108 names of lord shiva

55 योगेश्वराय 56 सिद्धेश्वराय 57 शीतिरुपाय 58 जलरूपाय 59 अग्निरूपाय 60 वायुरूपाय 61 नभोरुपाय 62 यजमानरूपाय 63 सोमरूपाय 64 सूर्यरूपाय 65 आत्मरूपाय 66 ब्रह्ररूपाय 67 शक्तिरूपाय 68 विश्वरूपाय 69 विप्ररूपाय 70 विरुपाय 71 विष्णुप्रियाय 72 रामप्रियाय 73 कृष्णप्रियाय 74 भक्तप्रियाय 75 डमरूधराय 76 नटेश्वराय 77 ताण्डवप्रियाय 78 प्रलयंकराय 79 महाभैरवाय 80 शमशानेश्वराय 81 भस्मधराय 82 कपालीश्वराय 83 रुण्डधराय 84 मुण्डधराय 85 पीनाकहस्ताय 86 यतिनाथाय 87 अवधूतेश्वराय 88 अर्धनारीश्वराय 89 त्रिलोकेश्वराय 90 उमानाथाय 91 परमेश्वराय 92 जगतगुरुवे 93 विदयावरदाय 94 शाश्वताय 95 शब्दरूपाय प्रणवरूपाय 96 महानादाय 97 अवन्तिनाथाय 98 मुक्तिवरदाय 99 मृत्युंजयाय 100 भवाय 101 शर्वाय 102 रुद्राय 103 पशुपतये 104 उग्राय 105 भीमाय 106 ईशानाय 107 भोलेनाथ 108 शम्भू