shayar ki shayari


shayar ki shayari

नमस्कार दोस्तों मैं शायर राठौड़ आप सबका स्वागत करता हूँ हमारी अपनी वेबसाइट shayarallinone पर, दोस्तों आज का आर्टिकल मेरे लिए, आप सबके लिए बहुत विशेष है, यहाँ मैंने महत्वपूर्ण बातों को शब्दों में सजाने की कोशिश की है और मुझे आशा है की आप सबको पसंद आएगी !

प्रस्तावना :

मैं शायर इस आर्टिकल में शायरी लिखने जा रहा हूँ आज फिर मैं कुछ नया सिखने जा रहा हूँ !
उठाई है कलम  मैंने,  मैं शायर होने जा रहा हूँ कुछ बाते मैं अपनी शब्दों में पिरोने जा रहा हूँ !

shayar ki shayari

shayar ki shayari
shayar ki shayari

(1)

अपने जीवन  की छोटी सी ठोकर भी ज़िंदगी बदलने पर मजबूर कर देती है !
कुछ  बाते चुभने लगे  और कुछ कर ना पाए तो अंदर से चूर चूर कर देती है !
जब ठोकर खाकर भी ना संभला जाए तो जरूरते  अपनों से भी दूर कर देती है !
जब ठोकर खाकर संभला जाए तो ज़िंदगी पराये को अपना जरूर कर देती है !
अपने जीवन की एक छोटी सी ठोकर इंसान को पत्थर से कोहिनूर कर देती है !
अपने जीवन  की छोटी सी ठोकर भी ज़िंदगी बदलने पर मजबूर कर देती है !

(2)

जब चलना शुरू ही कर दिया तो पीछे देखने में नहीं है भलाई !
जब लक्ष्य बना ही  लिया है तो मंज़िल की और करो चढ़ाई !
जब विश्वास खुद पर कर लिया है मत करो लोगो की सुनवाई !
जब चलना शुरू ही कर दिया तो पीछे देखने में नहीं है भलाई !
जिसने ठानी है जितने की उसने उलझन में भी सुलझन पाई !
जितना हो ज़माने से तो अपने लिए खुद से भी की है लड़ाई !
जब चलना शुरू ही कर दिया तो पीछे देखने में नहीं है भलाई  !

(3)

इंसान कभी महान नहीं होता महान तो उसके कर्म होते है !
वो इंसान कभी बुरे नहीं होते जिनके दया और धर्म होते है !
परिस्थिति विपरीत हो फिर भी कड़े उनके परिश्रम होते है !
इंसान कभी महान नहीं होता महान तो उसके कर्म होते है !
गर्मी में बर्फ की तरह ठण्डे, सर्दी में आग जैसे गर्म होते है !
वो इंसान  दिल के साफ़ और स्वभाव के बड़े नरम होते है !
इंसान कभी महान नहीं होता महान तो उसके कर्म होते है !

Have any Question or Comment?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

shayarallinone’s calendar

February 2020
M T W T F S S
« Jan    
 12
3456789
10111213141516
17181920212223
242526272829  
previous arrow
next arrow
Slider