कामयाबी success


success

नमस्कार दोस्तों मैं शायर राठौड़ स्वागत करता हूँ हमारी अपनी वेबसाइट shayarallinone पर दोस्तों आज का आर्टिकल है “कामयाबी (success)” इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद मैं उम्मीद करता हूँ आप इस पर अम्ल भी करेंगे !

प्रस्तावना : इस आर्टिकल के माध्यम से जानेगे कामयाबी वास्तव में होती क्या है कैसे व्यक्ति कामयाब या फिर सफल होते है और एक कामयाब व्यक्ति बनने के लिए क्या क्या करना पड़ता है !
कामयाबी वास्तव में होती क्या है कैसे व्यक्ति कामयाब या फिर सफल होते है और एक कामयाब व्यक्ति बनने के लिए क्या क्या करना पड़ता है !
SHAYARALLINONE

कामयाबी क्या है (What is success)

हर इंसान में एक कला छिपी होती है लेकिन किसी की छिप जाती है और किसी की छप जाती है जिसकी कला छप जाती है उसी का नाम कामयाबी है ! कामयाबी एक ऐसा मुकाम है जहाँ हर कोई पहुंचना चाहता असल में पहुँचता वही है जो उसके योग्य होता है ! जब कोई जीवन का लक्ष्य बनाया जाये तथा उसे पाने के लिए निरंतर वो आसान से आसान और कठिन से कठिन प्रयास किया जाये और एक समय पर अपने लक्ष्य को पा लेना ही कामयाबी कहलाता है !यहाँ कामयाबी को दो हिस्सों में बाँटते है पहली सफलता जिसमे आपको कुछ समय के लिए कोई टास्क या फिर कोई प्रतियोगिता का हिस्सा बनाकर जित हासिल करना कामयाबी कहलाती है ! दूसरी सफलता होती है जीवन की सफलता जहाँ एक विशेष कार्य के लिए आपको जाना जाए जहाँ आपका खुद का नाम हो जहाँ लोग आपका अनुसरण करना चाहे आप एक ऐसे मुकाम पर पहुँच जाए जिस तक पहुंचना हर किसी का सपना बन जाए असल में जीवन की इसी सफलता को कामयाबी कहते है !

हर इंसान में एक कला छिपी होती है लेकिन किसी की छिप जाती है और किसी की छप जाती है जिसकी कला छप जाती है उसी का नाम कामयाबी है ! कामयाबी एक ऐसा मुकाम है जहाँ हर कोई पहुंचना चाहता असल में पहुँचता वही है जो उसके योग्य होता है ! जब कोई जीवन का लक्ष्य बनाया जाये तथा उसे पाने के लिए निरंतर वो आसान से आसान और कठिन से कठिन प्रयास किया जाये और एक समय पर अपने लक्ष्य को पा लेना ही कामयाबी कहलाता है !यहाँ कामयाबी को दो हिस्सों में बाँटते है पहली सफलता जिसमे आपको कुछ समय के लिए कोई टास्क या फिर कोई प्रतियोगिता का हिस्सा बनाकर जित हासिल करना कामयाबी कहलाती है ! दूसरी सफलता होती है जीवन की सफलता जहाँ एक विशेष कार्य के लिए आपको जाना जाए जहाँ आपका खुद का नाम हो  जहाँ लोग आपका अनुसरण करना चाहे आप एक ऐसे मुकाम पर पहुँच जाए जिस तक पहुंचना हर किसी का सपना बन जाए असल में जीवन की इसी सफलता को कामयाबी कहते है !
SUCCESS KEY

कामयाबी कैसे प्राप्त होती है How to achieve success

कोई भी इंसान उत्तम (perfect ) नहीं होता है वो अपने कर्मो से उत्तम बनता है ! जब कोई इस धरती पर जन्म लेता है तो उसे किसी भी चीज का ज्ञान नहीं होता लेकिन समय समय पर समय बीतने पर उसे बैठने उठने चलने खाने पिने बोलना तक सिख लेता है जो इतना सिख लेता है इसका मतलब साफ हो जाता है वो कुछ भी सिख सकता है और कामयाब होने के लिए जरुरी है सीखना हर दिन कुछ सीखना हर हार से कुछ सीखना हर गलती से कुछ सीखना और निरंतर प्रयास करना करते रहना जब तक की कामयाबी आपको हासिल ना हो जाए ! लोग कामयाब लोगो को देखकर कहते है उसकी बुद्धि तेज है या फिर उसके अंदर दिमाग तेज है इसलिए वो कामयाब है जब्कि ऐसा नहीं होता है बुद्धि भी सम्मान है बस एक सोच का फर्क है और बुद्धि को जितना इस्तेमाल करेंगे उतनी ही वो कार्य करेगी ! कामयाबी को पाने के लिए सबसे ज्यादा जिसकी जरूरत है वो है एक सकारात्मक सोच की एक बड़ी सोच की !

कुछ points दर्शाये गए है जिनका अनुसरण किया जाए तो आपको आपकी कामयाबी तक पहुंचने से कोई नहीं रोक सकता !
SUCCESS

निचे कुछ points दर्शाये गए है जिनका अनुसरण किया जाए तो आपको आपकी कामयाबी तक पहुंचने से कोई नहीं रोक सकता !

  • सर्वप्रथम अपनी सोच को बदलना, बदलना सिर्फ आपकी नकारात्मक सोच को है अपने दिमाग से यह निकाल दो की मैं यह नहीं कर सकता और हमेशा ध्यान रखो की जब कोई दूसरा कर सकता है तो आप भी कर सकते हो और जो दूसरा नहीं कर सकता वो भी आप कर सकते हो !
  • जीवन का एक लक्ष्य बनाओ फिर देखो जीवन जीने का मज़ा ही कुछ और होगा, जीवन तो हर कोई जीता है लेकिन जब तक जीने का कोई सही अर्थ ना मिले तो जीवन व्यर्थ सा लगता है इसलिए एक लक्ष्य जरुरी है !
  • अपनी संगत को सुधारो ऐसे लोगो से हमेशा दूर रहो जो आपको nagative सन्देश देवें ऐसे दोस्त कभी मत बनाओ जो आपकी आदतों को गलत दिशा देवे ! ऐसे लोगो की संगत में रहे जिनका खुद का कोई लक्ष्य है !
  • आलस्य को हमेशा अपने से दूर रखो जो काम आज मिला है या कल करने का सोचा है और अभी आपके पास वक्त है तो उसे अभी ही पूरा करने का प्रयास करो कभी भी अपने कार्य में देरी मत करो मनुष्य का सबसे बड़ा शत्रु ही उसका आलस्य है जीवन में गांठ बांध लो किसी को अपना शत्रु मत बनाओ लेकिन अपने आलस्य को अपना शत्रु जरूर मानो और हमेशा आलस्य से दूर रहो !
  • दैनिक जीवन के नियम बनाओ उसमे से पहला नियम यह बनाओ सुबह सूर्योदय से पहले जितना जल्दी उठ सकते हो उतना जल्दी उठने का ! वो इंसान जिंदगी में कभी कामयाब नहीं होते जिनको सूरज जगाता है और उस इंसान को कामयाब होने से कोई नहीं रोक सकता जो सूर्य उदय होने से पहले जग जाए !
  • हर दिन अपने लक्ष्य के लिए कदम उठाओ आपके हर दिन उठाये हुए छोटे छोटे कदम आपको आपके लक्ष्य की और जरूर लेकर जायेगे यह नियम हो जाना चाहिए की हर दिन अपने लक्ष्य की और एक नया कदम बढ़ाएंगे !
  • कभी भी बहाना मत बनाओ क्योंकि जो लोग काम नहीं कर पाते वो ही लोग अक्षर बहाने बनाते नज़र आते है !
  • दोस्तों अगर कामयाब होना है तो खुश रहना सिख लीजिए हर हाल में खुश रहना चेहरे पर हमेशा एक smile रहे ! आपको पता है हर हाल में जीना है तो चिंता करने से कुछ नहीं होगा क्योंकि चिंता करने से कभी चिंता ख़त्म नहीं होगी जब तक चिंता के कारण कोई दूर नहीं किया जाएगा तब तक चिंता दूर नहीं होगी ! इसलिए हमेशा खुश रहकर अपने कार्य करते रहना चाहिए !
  • कामयाबी पाने के लिए धैर्य जरुरी है और step by step चलते रहे जीरो से शुरुआत करे और तब तक धैर्य के साथ प्रयास करते रहे जब तक की सफलता को प्राप्त ना करलो !
  • हर दिन कुछ नया सिखने का प्रयास करे और हमेशा कुछ सीखते रहना चाहिए आपकी सीखी हुई हर चीज कहीं ना कहीं आपके जीवन में काम आएगी !
  • सफलता एक कर्मो की सीढ़ी है जिसके कुछ चरण होते कभी अंतिम चरण पर चढ़ने का प्रयास ना करे निश्चित है की आप गिरोगे और सम्भल भी नहीं पाओगे लेकिन हाँ अगर प्रथम चरण से शुरुआत करोगे तो आप गिरोगे लेकिन फिर से संभल जाओगे और यह भी निश्चित है जिस चरण को पार करोगे उसके पीछे कभी नहीं गिरोगे आगे की और ही चलोगे चलते जाओगे और एक दिन सफलता के उस अंतिम चरण तक पहुंच ही जाओगे !

Have any Question or Comment?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

previous arrow
next arrow
Slider