MAHADEV SPECIAL


mahadev

नमस्कार दोस्तों मैं स्वागत करता हूँ आप सबका हमारी अपनी वेबसाइट shayarallinone पर यह पोस्ट मेरे दिल के बहुत करीब है क्योंकि जो मेरे दिल और दिमाग में हर वक्त रहते है उनके लिए है !

महादेव स्पेशल :  दोस्तों मैं भगवान् शिव जी का भक्त हूँ ! भक्त बोलो या फिर मेरे लिए  मेरी माँ मेरे पिता मेरे भाई मेरी बहिन मेरे दोस्त मेरे पड़ोसी मेरे गुरु मेरी आन बान और मेरी शान मेरे नाथ ही है सुबह की शुरुआत उनके नाम से हो और शाम भी उनके नाम से हो बस दिल में यही हर वक्त ख्वाईश रहती है !

महादेव स्पेशल इसलिए है मेरे लिए क्योंकि मैंने अगर किसी पर पूर्ण विश्वास किया है तो वो महादेव पर मेरे माता पिता के साथ उनका आशीर्वाद है तो मुझे किसी और की जरुरत नहीं ! महादेव स्पेशल इसलिए है मेरे लिए की मुझे जब भी कुछ मांगना होता है तो अपने महादेव से फरियाद करता हूँ ! मैं समझता हूँ मैंने अपने जीवन में बहुत से उतार चढाव देखे लेकिन हर राह पर एक साहस मिला हर वक्त यही रहा की मेरे महादेव अगर मेरे साथ है तो मेरे  लिए कुछ भी असंभव नहीं !

MAHADEV SPECIAL LINES

अकेले आए है अकेले ही जाएंगे, और खाली हाथ आये थे खाली हाथ ही जाएंगे
बहुत  कुछ  खोया  बहुत  कुछ  पाएंगे, वक्त के साथ हम चलकर भी दिखाएंगे
भोले की नगरी में सबको ले आएंगे अपनी जगह सबके दिल में हम भी बनाएंगे
जब  भोले  बुलाएगा हम हम भी चले जाएंगे जब भी जाएंगे  सबको याद आएंगे
shayarallinone
MAHADEV SPECIAL
  • हमेशा सम्पर्क में उन्ही के रहो जो आपका सम्पर्क कभी नहीं छोड़े !
  • भोलेनाथ आपके भक्त तो बहुत होंगे पता नहीं क्यों मुझे लगता है मेरे जितना चाहने वाला कोई नहीं ! 
  • काल की भला क्या औकात होगी अगर भक्त कोई होगा मेरे महाकाल का !
  • जीवन में अगर किसी को सच्चा साथी बनाना है तो मेरे महादेव का साथ कीजिए और यकीन माने यह साथ इस जन्म का ही नहीं जन्म जन्म का बन जाएगा !
  • हम नहीं घबराते किसी संकट या काल से क्यों की हम भक्त जो ठहरे महाकाल के !
  • मेरे मार्गदर्शक मेरे कैलाशनाथ को कोटि कोटि प्रणाम और उनके चरणों में मेरे चारो धाम !
  • महादेव का दीवाना हूँ हालात कैसे भी हो सबको झेलने की हिम्मत रखता हूँ !
  • जीवन में उतार चढाव बहुत देखे साथ अगर हो मेरे नाथ का तो और भी देख सकता हूँ !
  • हर दिन खास हो जाता है जब उठते ही मेरे नाथ का नाम लेता हूँ !
  • मेरा एक दिन ऐसा ना जाये की जुबा पर आपका नाम ना आये बस यही आपसे चाहता हूँ !
  • दुनिया कैसी है मेरे महादेव, शायद जिसने जैसा जाना वैसी है ! 
  • माँगो उसी से जो दे ख़ुशी से और कहे ना किसी से..
  • भोले की भक्ति में ही इंसान की शक्ति है..
  • अपनी ज़िंदगी भोले तेरे नाम से शुरू तेरे नाम पे पूरी..
  • मैं अपना कर्म कर रहा हूँ भोले बस आप अपना आशीर्वाद बनाये रखना !
  • मैं पड़ा हूँ, मैं अपनी ज़िद पर अड़ा हूँ, मैं अपनी मंज़िल पाने के लिए कइयों से लड़ा हूँ क्यों की मेरे भोले नाथ ने कहा तू अच्छा कर मैं हमेशा तेरे साथ खड़ा हूँ !
  • पूरे होंगे अपने भी सपने.. महादेव जो साथ खड़े है अपने !
  • सीधे साधे, भोले भाले है साहेब हम भोले के भक्त जो है.. हमे नहीं आता लोगों की तरह दुसरो को तकलीफ देकर खुश रहना !
  • जब दिखावे के रिश्तों से मन भर जाए तो एक बार मेरे भोलेनाथ की शरण में जाकर देखना क्या पता  ऐसा रिश्ता बन जाये की किसी और रिश्ते की जरूरत ही महसूस ना हो !
  • कुछ तो बात है भोले बाबा आपकी भक्ति में, बहुत  शक्ति है आपकी भक्ति में कुछ तो अलग बात है तभी आप मेरे साथ है !
  • कम उम्र में बहुत कुछ देख लिया अब मेरा महादेव से रिश्ता गहरा है और मेरे चारों तरफ मेरे महादेव का पहरा है !
  • मैंने इस रिश्ते को देखा नहीं लेकिन महसूस किया भाई-बहन माता- पिता, दोस्त सबके प्यार का एहसास किया !
  • संवर जाएगा आज संवर जाएगा कल बस याद रख मेरे महादेव को हर पल !!
  • कब दिन से रात होती है पता नहीं चलता जब महादेव की बात होती है. जब रखा है सर पर महादेव का हाथ तो हर कदम चलेगा आपके साथ !
  • जिसने शुरू की महादेव की पूजा  उसे फिर रास ना आया कोई दूजा !

MAHADEV SPECIAL STATUS

(1)

मन साफ तो मन में मंदिर नहीं तो मंदिर में भी मन नहीं !
सब निभाकर देखा भोले कहीं भी आपके जैसा अपनापन नहीं !!

(2)

जो किया नहीं वो भी करूँगा जो देखा नहीं वो देख लूँगा !
मेरे भोलेनाथ आप अपना आशीर्वाद बनाये रखना !
दुनिया की हर मुसीबत से लड़ूंगा जब वक्त मेरा आएगा !
अपना ही नहीं अपनों का भी नाम रोशन करूँगा !!

(3)

जब होता है दर्द अंदर से तो आवाज सिर्फ आपको ही जाती है सदैव !
जय शिव शंकर जय भोलेनाथ जय महेश्वर जय त्रिलोकेश जय महादेव !

(4)

मेरे नाथ का एक जगह नहीं हर जगह वास है !
मेरे महेश्वर के दुनिया का हर भक्त खास है !!

(5)

मेरे शिव शम्भु का मुझसे रिश्ता गहरा है !
इसलिए मेरा कोई क्या बिगाड़ पायेगा !
मेरे चारो तरफ मेरे महादेव का जो पहरा है !

(6)

जितना लिखूं अपने महादेव के लिए उतना ही कम है !
आशीर्वाद है मेरे नाथ का इसलिए ना दुःख और ना गम है !!

(7)

लेकर जिनका नाम बन जाये बिगड़े काम वो है मेरे नीलकंठ महादेव !
मेरी आखिरी साँस तक साथ रहेंगे सदैव वो है मेरे नीलकंठ महादेव !

(8)

करो काम नैक और जय बोलो भोलेनाथ की !
फिर जरुरत ना होगी किसी और के साथ की !!

(9)

सुबह सुबह करो एक काम लो शिव शम्भू का नाम संवर जाये जीवन और बन जाये बिगड़े काम !!

(10)

मेरे महादेव की बात ही निराली है मेरे नाथ का साथ ही निराला है !
मेरे महादेव का हर भक्त अद्भुत और सच्चे दिलवाला है !!

(11)

जब कुछ कहना हो तो मेरे महादेव आपसे !
जब कुछ मांगना हो तो मेरे महादेव आपसे !

(12)

जब से होश संभाला है जपी आपकी माला है !
ना कोई मोह ना कोई माया मेरे साथ तो मेरा डमरू वाला है !!

(13)

पत्थर दिल नहीं पर इस ज़माने को देखकर बड़ा सख्त हूँ !
ज़माना कहता मैं कमबख्त हूँ लेकिन मैं पत्थर दिल नहीं !!
थोड़ा सख्त हूँ क्योंकि मैं महाकाल का भक्त हूँ !

(14)

क्या कहूँ मैं महादेव के लिए जितना कहूँ उतना कम है !
सुबह लो शिव शम्भू का नाम इसमें त्रिलोक का दम है !!

(15)

महादेव आप मेरे जीवन की डोर कलेजे का हिस्सा हो !
महादेव आप मेरे मन का मोर ज़िंदगी का किस्सा हो !
महादेव आप मेरे मन का मोर ज़िंदगी का किस्सा हो !
जीवनमार्ग में क्या सही क्या गलत दिखाने का शीशा हो !
महादेव आप मेरे जीवन की डोर कलेजे का हिस्सा हो !!

(16)

नाम जब लेते है भोलेनाथ जी का तो दिल को सुकून मिलता है !
नाम जब लेते है महादेव जी का तो चेहरा सबका खिलता है !
नाम जब लेते है शिव जी का तो भटके को सहारा मिलता है !
नाम जब लेते है महाकाल का तो पत्थर दिल भी पिघलता है !
जब त्रिलोकनाथ का त्रिनेत्र खुलता है तो ब्रह्माण्ड पूरा हिलता है !

(17)

जो भक्त है मेरे महाकाल का !
उसके पास जवाब है हर सवाल का !

(18)

विचित्र है भोलेनाथ आपकी माया बस हर पल रहे आपका हम पर साया !
जबसे होश संभाला है, आपके सिवा इस दिल में कोई और नहीं समाया !
बस आपकी छांया, बस आपकी माया,आपको ही सच्चा साथी पाया !

(19)

एक सच्चा दिल होना चाहिए कण कण में शिव मुझमे शिव तुझमे शिव जहाँ देखो वहीं शिव हर जगह शिव नज़र आयेंगे !
दिल सच्चा नहीं तो कोई भी तीर्थ यात्रा करलो सब जगह पत्थर नज़र आयेंगे मन में खोजो फिर देखो शिव हर जगह पायेंगे !

(20)

संकटहर्ता पालनहार दो सबको खुशियाँ अपार,
ज़िंदगी के दिन है चार करदो सबका बेड़ा पार,
शिव भक्त पुकारे बार बार खोलो अपने दिल के द्वार
जय हो मेरी महादेव सरकार !!

(21)

चाहे दिन हो या रात रोज बस कहनी एक बात !
हमेशा सर पर हमेशा रखना अपना हाथ !
क्योंकि इस ज़माने में सबसे प्यारा आपका साथ !

(22)

मेरी महादेव से दिल की तम्मना है होंठो से अरदास है !
मतलबी लोगो को हमेशा दूर रखना मुझे मेरे महादेव !
लोग मतलब से पास है लेकिन मेरे तो आप ही खास है !

(23)

करो सदा महादेव का भजन, होगा सबका मन प्रसन्न !
कट जाए कष्ट सारे तन के मिट जाये भ्रम सारे मन के !
करो सदा महादेव का जतन, होगा सबका मन प्रसन्न !
करो सदा महादेव का दर्शन, होगा सबका मन प्रसन्न !

(24)

दिन हो या रात हो आँधी हो या तूफान हो, आकाश हो या पाताल हो !
आज हो या कल हो जीवन का हर पल हो, आवास अन्न और जल हो !
घर हो मेरा परिवार हो सृष्टि का सार हो मेरे लिए पूरा संसार हो !
मेरा सुख हो या दुःख हो मेरे पल पल के हर पल में आपका ध्यान हो !
महादेव आप ही मेरा ज्ञान हो, आप ही मेरी आन बान और शान हो !

(25)

महादेव आप ही मेरे राज हो महादेव आप ही मेरे सरताज हो !
महादेव आप ही मेरे काज हो महादेव आप ही मेरे धर्मराज हो !
महदेव मेरे शब्दों के साज हो महादेव आप ही मेरी आवाज हो !

(26)

मेरे हाथों की जो रेखा है उसमे महादेव को देखा है !
मेरे कर्मो का जो लेखा है उसमे महादेव को देखा है !
मैंने जहाँ नजर को टेका है उसमे महादेव को देखा है !

(27)

मन को बनाया मंदिर और उस मंदिर में शिव शंकर को बिठाया हूँ !
तन को बनाया मंदिर का पुजारी फिर महादेव का भक्त कहलाया हूँ !
कर्मो को बनाया अपना कर्तव्य फिर मंज़िल की और कदम बढ़ाया हूँ !
किसी को ठेस ना पहुंचे मेरी वजह से यही अरदास आपसे लगाया हूँ !
जब से होश संभाला हूँ इस जहाँ में निस्वार्थ साथ आपका ही पाया हूँ !
आज में कल में आने वाले हर पल में आपको ही सर्वोपरि बनाया हूँ !

(28)

आज सोमवार है मेरे महादेव जी का वार है !
शिव मोतियों की माला और फूलों का हार है !
शिव कण कण के वासी करते सबसे प्यार है !
प्यारे धर ध्यान भोलेनाथ में यह करते बेड़ापार है !
जो भक्त मात-पिता सा करते शिव का सत्कार है !
भक्तो के लिए शिव शंकर रहते हर पल तैयार है !

(29)

सुबह होकर शाम भी होती है शिव नाम से चारो धाम होती है !
शाम के बाद रात भी ढलती है शिव के नाम से बाधा टलती है !
शिव नाम से दिन की शुरुआत शिव नाम से ढलती है हर रात !
शिव शंकर को बनाओ अपने आँखों की ज्योति !
नाम लो शिव का फिर अँधेरे में भी रौशनी होती !

(30)

शायर की कलम है महादेव लिखे शब्दों का दम है महादेव !
शायर की शायरी है महादेव जीवन की डायरी है महादेव !
शायर की भक्ति है महादेव शायर की शक्ति है महादेव !
शायर के वक्त में है महादेव शायर के रक्त में है महादेव !

(31)

मेरे महादेव की जहाँ सरकार है वहाँ दुनिया भर का प्यार है !
शिव शंकर सबकी सुनते पुकार है यह सबके पालनहार है !

(32)

मैं तो मंज़िल का मुसाफिर हूँ मेरे नाथ मेरे मार्गदर्शक है !
मैं मंज़िल का चालक भोलेनाथ इस चालक के रक्षक है !
मैं मंज़िल का धावक भोलेनाथ इस धावक के शिक्षक है !
मैं तो मंज़िल का मुसाफिर हूँ मेरे नाथ मेरे मार्गदर्शक है !

(33)

मेरे शिव शंकर मेरे शम्भु  नाथ मेरी यह प्रार्थना स्वीकार हो !
मेरा आप   पर  एक भक्त के रूप में सम्पूर्ण  अधिकार हो !
आपका मुझपर वो पिता वाला प्यार और माँ वाला दुलार हो !
भाई बहिन का प्यार वो यारो के यार आप ही मेरा संसार हो !
भले ज़िंदगी के दिन चार हो लेकिन मेरे प्रति सबका प्यार हो !
मेरे बल बुद्धि शिक्षा का सार हो आपका मुझपर उपकार हो !
भले परिस्थियाँ मेरे आर-पार हो लेकिन आप ही हथियार हो !
ना कभी किसी का अंहकार हो, भले खुशियों का भण्डार हो !
आपके साथ मेरा पूरा परिवार हो यही जीवन का उपहार हो !
मेरे शिव शंकर मेरे शम्भु  नाथ मेरी यह प्रार्थना स्वीकार हो !

(34)

महादेव की नगरी में बहुत बड़ा मैला है यहाँ हर भक्त महादेव का चेला है !
पृथ्वी पर सृष्टि की रचना करके सबसे निराला यह खेल महादेव ने खेला है !
सांसारिक जीवन में बहुत बड़ा झमेला है यहाँ कोई तन्हा है कोई अकेला है !
सबको दिया है यह खेल खेलने का मौका महादेव ने हर कोई खेल खेला है !
पाप-धर्म, अच्छा-बुरा, न्याय-अन्याय, तेरा-मेरा, कोई मजनू तो कोई लैला है !
सभी का हिसाब मेरे महादेव ने कर रखा है जिसने हर किसीको जो झेला है !
यह महादेव की नगरी है जहाँ देवो के देव महादेव का सबसे बड़ा मेला है !
वो जब न्याय करता है तो अच्छे से परखता है जिसने जैसा खेल को खेला है !
अच्छी सोच अच्छी नियत से खेलो खेल को,होगा वो ही जो महादेव करेला है !
यहाँ कोई गुरु कोई चेला है सबसे बड़ा गुरु वो जिसने इस खेल को रचेला है !

(35)

जब चलता हूँ अकेला इस जहाँ में तो साथ महादेव को पाता हूँ !
ऊँगली पकड़कर चलने के लिए मैं हाथ महादेव को पाता हूँ !
जब जरुरत होती है चाह की तो मैं निस्वार्थ महादेव को पाता हूँ !
मैं जब साथ महादेव को पाता हूँ तो मंज़िल की और बढ़ जाता हूँ !

(36)

मैं महादेव का पुजारी मेरे महादेव पालनहारी है !
वो पल बड़ा ही भारी जिस पल आरती उतारी है !
जब होती सुबह की आरती लगती सबको प्यारी है !
यहाँ महादेव के नाम से यह झूमे दुनिया सारी है !
मेरे महादेव के जाप से मेरी होती सभी तैयारी है !
मैं महादेव का पुजारी मेरे महादेव पालनहारी है ! !

(37)

अकेले आए है अकेले ही जाएंगे, और खाली हाथ आये थे खाली हाथ ही जाएंगे !
बहुत कुछ खोया बहुत कुछ पाएंगे, वक्त के साथ हम चलकर भी दिखाएंगे !
भोले की नगरी में सबको ले आएंगे अपनी जगह सबके दिल में हम भी बनाएंगे !
जब भोले बुलाएगा हम हम भी चले जाएंगे जब भी जाएंगे सबको याद आएंगे !

(38)

दिल मेरा है शम्भू लेकिन इसकी धड़कन आप हो !
मन मेरा मंदिर है आप मेरी पूजा आप ही जाप हो !
आँखे मेरी है महादेव लेकिन इसमें दिखते आप हो !
देखूँ माँ बाप में आपको तो आप मेरे माँ,मेरे बाप हो
हाथ की लकीरे मेरी, आप इन लकीरो के माप हो !
विनती है आपसे मेरी, मुझसे गलती से ना पाप हो !
दिल मेरा है शम्भू लेकिन इसकी धड़कन आप हो !

(39)

मैं कलम, मेरे महादेव आप उसकी स्याही बन जाओ !
मैं शून्य, मेरे महादेव, आप मेरे शिखर बनकर आओ !
मैं शब्द, मेरे महादेव आप मेरी शब्दावली बन जाओ !
मैं भक्त, मेरे महादेव का आप मुझे आप में मिलाओ !
मैं कलम, मेरे महादेव आप उसकी स्याही बन जाओ !

Have any Question or Comment?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

shayarallinone’s calendar

January 2020
M T W T F S S
« Dec   Feb »
 12345
6789101112
13141516171819
20212223242526
2728293031  
previous arrow
next arrow
Slider