धैर्य Patience defination


नमस्कार दोस्तों स्वागत है आप सबका shayarallinone पर आज का आर्टिकल है “धैर्य” चर्चा करेंगे धैर्य का मानव जीवन में क्या रोल होता है ! धैर्य क्या है इसका क्या काम होता है, धैर्य के महत्व को समझेंगे  

धैर्य/Patience meaning

धैर्य क्या है (What is patience) :

परिभाषा : धैर्य एक सहनशक्ति है जो व्यक्ति को कठिन परिस्थितयों को सहना सिखाता है ! धैर्य व्यक्ति को नकारात्मकता से दूर रखता है ! जब व्यक्ति कठिन से कठिन परिस्थितयों को सहने का साहस रखता है उसे धैर्य कहते है ! धैर्य वो है जो व्यक्ति के भीतर सकारात्मक सोच पैदा करती है ! धैर्य परिस्थितयों से समझौता करवाना सिखाता है ! धैर्य दृढ़ता का प्रतिक है जो व्यक्ति को सुदृढ़ बनाता है ! धैर्य एक बुद्धिमान व्यक्ति की पहचान होती है ! धैर्य एक ऐसा हौसला है जो व्यक्ति को गिरने नहीं देता ! एक व्यक्ति जिसके पास अनेक मुसीबतें हो फिर वो अपने हौसले और इरादों पर टिका रहता है उन सब मुसीबतों को सहने की ताकत रखता है उस ताकत को भी धैर्य कहते है !

धैर्य का कार्य (Work of patience) :

धैर्य का कार्य होता है व्यक्ति को साहस देना हौसला बुलंद करना ! धैर्य का कार्य होता है व्यक्ति के भीतर एक सकारात्मक सोच पैदा करना ! धैर्य का कार्य होता है सहनशक्ति को बढ़ाना ! अक्षर लोग जल्दी हार मान लेते है लेकिन एक धैर्य रखने वाला व्यक्ति कभी हार नहीं मानता वो तब तक संघर्ष करता रहता है जब तक की जीत उसकी ना हो जाए ! धैर्य वो है जो समय के साथ चलता है ! धैर्य का कार्य गलत फैसलों को ना लेने देना ! धैर्य जीवन में बहुत कुछ सिखाने का कार्य करता है ! धैर्य जीवन में संघर्ष की एक ऐसी मिसाल है जो व्यक्ति को जीत की और ले जाती है ! धैर्य का कार्य यह नहीं होता की व्यक्ति को वो भी सहना जो गलत हो धैर्य परिस्थितयों को सहने की ताकत देता है लेकिन व्यक्ति को यह कभी नहीं भूलना चाहिए की कहीं उसके आत्म सम्मान को तो कोई ठेस नहीं पहुंच रही ! धैर्य व्यक्ति के मनोबल को बढ़ाता है !

धैर्य क्या सिखाता है और क्या नहीं सीखाता :

धैर्य सीखाता है : धैर्य निरंतरता सिखाता है धैर्य व्यक्तित्व का ज्ञान करवाता है, धैर्य सिखाता है की कभी हार मत मानो ! धैर्य सिखाता है की विपरीत परिस्थितियों का सामना किस प्रकार से किया जाए ! धैर्य मनोबल को बढ़ाना सिखाता है, धैर्य बुद्धि को विकसित करता है ! धैर्य एक सकारात्मक सोच को रखना सिखाता है ! धैर्य नियंत्रण रखना सिखाता है ! एक सफल व्यक्ति की पहचान उसके धैर्य से होती है ! धैर्य गलती का समाधान सिखाता है धैर्य एक अच्छे परिणाम का प्रतिक है ! जो काम जल्दी में नहीं किया जा सकता वो काम धैर्य करना सिखाता है !

धैर्य क्या नहीं सिखाता : धैर्य यह नहीं सिखाता की आप कुछ भी सहन करो ! धैर्य कभी यह नहीं सिखाता की आप गलत को भी सहन करो ! धैर्य यह नहीं सिखाता की कोई आपके साथ बुरा करे फिर भी आप उसको सहो ! धैर्य एक समय के लिए आपको रोक सकता है लेकिन उसका जबाब आप अपने अच्छे कर्मो से दो जिससे की बुरा करने वाला भी कुछ अच्छा करने पर मजबूर हो जाए ! धैर्य व्यक्ति को सकारात्मक रहना सिखाता है धैर्य कभी व्यक्ति को नकारात्मक नहीं होने देता !

धैर्य का महत्त्व

अक्षर लोग अपना आपा खोकर बहुत से गलत फैसले ले लेते है और बहुत कुछ अपने साथ ही बुरा होने देते है ! लेकिन एक धैर्यशील व्यक्ति कभी भी अपने या अपने से जुड़े किसी भी व्यक्ति के साथ गलत नहीं होने देता ! धैर्य रखने वाले व्यक्ति अपने साथ बहुत कुछ गलत होने से खुद को बचा लेते है ! धैर्य एक ऐसा परिणाम है जो आपके द्वारा किए गए कर्मो का परिणाम देर से जरूर लाता है लेकिन वो परिणाम आपके पक्ष में ही लाता है ! एक धैर्य उम्मीद की किरण होती है, जो वक्त के साथ आपके जीवन में उजाला करती है !

धैर्य रखना भी एक कला है जो व्यक्ति के व्यक्तित्व की सही पहचान कराती है ! धैर्य रखने वाले लोगो का व्यवहार कभी गलत नहीं होता है ! जो काम गुस्से में विपरीत परिणाम लाते है वो काम धैर्य रखकर अच्छे परिणाम लाते है ! धैर्य का कार्य होता है शांति बनाये रखना ! जब कोई आपके विरुद्ध हो तो वहाँ गुस्सा काम नहीं करेगा लेकिन आपका धैर्य आपके लिए बहुत कुछ कर जाएगा !

सुझाव :

दोस्तों जब भी आपको फैसला लेते समय लगे की आप कोई गलत फैसला तो नहीं ले रहे उस वक्त आपको धैर्य रखने की जरुरत होती है लेकिन जब भी आपको लगे की आप कुछ अच्छा कर रहे हो और आप जो निर्णय लोगे वो सही होगा तो आपको तुरंत निर्णय लेना चाहिए और उस वक्त आपको परिणाम के लिए धैर्य रखना चाहिए ! आज के दौर में लोगो को जल्दी परिणाम चाहिए होता है लेकिन कुछ काम ऐसे होते है जिनमे धैर्य रखना बहुत जरुरी है ! आप अगर कोई काम शुरू करो और करते ही आपको बहुत सारा मुनाफा हो यह जरुरी नहीं उसके लिए बहुत सी मेहनत करनी पड़ती है ! एक सफल व्यक्ति की यही पहचान होती है की वो कभी आज की नहीं सोचता वो आने वाले वक्त की सोचता है ! और जो वो आज कर रहे है उसका फल आने वाले समय में उसको कैसा मिलेगा दो साल बाद चार साल बाद पांच साल बाद ! और इसके लिए जो सबसे जरुरी है वो धैर्य अगर आपके पास धैर्य है तो आपको आपके लक्ष्य तक पहुँचने से कोई नहीं रोक सकता !

जीवन में धैर्य बहुत कुछ सिखाता है कुछ काम जल्दी में नहीं हो पाता है वो धैर्य कर दिखलाता है
जो धैर्य नहीं रख पाता है वो गलत निर्णय कर जाता है व गलत निर्णयों का गलत परिणाम आता है
सफलता का मूलमंत्र धैर्य से ही तो आता है धैर्य है जो व्यक्ति के व्यवहार का परिचय करवाता है
धैर्य जीवन में बहुत कुछ दिलाता है धैर्य कइयों से मिलाता है जीवन में धैर्य बहुत कुछ सिखाता है

Have any Question or Comment?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

previous arrow
next arrow
Slider