जीवन लक्ष्य goal of life


जीवन लक्ष्य goal of life

नमस्कार दोस्तों मैं शायर राठौड़ स्वागत करता हूँ आप सबका हमारी अपनी वेबसाइट shayarallinone पर दोस्तों आज का आर्टिकल है “लक्ष्य” और जानेगे लक्ष्य क्या है, लक्ष्य के महत्व को विस्तृत रूप से जानेंगे !
लक्ष्य क्या है  what is goal?

लक्ष्य का अर्थ meaning of goal : लक्ष्य का अर्थ  निशाना होता है  निशाना लगाना आपका कार्य बन जाता है ! लक्ष्य को दो तरह से समझ सकते है एक लक्ष्य वो होता है जो आपको  किसी के द्वारा मिलता है एक लक्ष्य वो जिसका निर्धारण आप स्वयं करते है !एक लक्ष्य वो जिसे आप एक निश्चित समय पर पूरा कर लेते हो और एक लक्ष्य वो जिसको पूरा करने में लम्बा समय भी लग जाता है !इस तरह से जीवन में कई छोटे बड़े लक्ष्य आपको मिलते है जिन्हे आपको पूरा करना मज़बूरी हो जाता है ! लेकिन मुख्य लक्ष्य क्या है यह जानना जरुरी है दोस्तों मुख्य लक्ष्य जीवन का लक्ष्य होता है !

जीवन का लक्ष्य (goal of life in hindi) : जो भविष्य का निर्धारण करता है वो जीवन का लक्ष्य है ! जो जीवन जीने का तरीका सीखाएं वो जीवन का लक्ष्य है ! जीवन का लक्ष्य आपके जीवन से जुड़ा होता, आपकी पहचान आपके लक्ष्य से होने लगे वो जीवन का लक्ष्य है ! एक लक्ष्य निर्धारण करना बहुत जरुरी है और वो लक्ष्य अगर आपके जीवन को सफल बना दे वो ही आपके जीवन का लक्ष्य है !हर व्यक्ति के कुछ सपने होते है जिनको वो पूरा करना चाहता है और एक ऐसी कामयाबी पाना चाहता है जो वो सपनो में देखता है लेकिन सपने उसी के हकीकत बनते है जो उस सपने को अपना लक्ष्य बना लेते है वर्ना सपने सिर्फ सपने बनकर रह जाते है ! लक्ष्य का निर्माण करने के लिए आपको अपने आप में देखना चाहिए की आपको किस काम को करने सबसे अधिक रूचि है और आप क्या बनाना चाहते है ! दोस्तों अपने दिमाग से यह बात निकाल  दीजिए की मैं नहीं बन सकता क्योंकि जब कोई दूसरा वो बन सकता है तो आप भी बन सकते हो ! अक्षर व्यक्ति के लक्ष्य कुछ इस प्रकार होते है : क्रिकेटर, डॉक्टर, इंजिनियर, वकील, पुलिस, आर्मी, फौजी, समाज सेवक, या फिर स्वयं का व्यापार  इस प्रकार लोग अपनी इच्छा रखते है ! और इन्ही इच्छाओ से अपने लक्ष्य का निर्माण करते है !

लक्ष्य क्यों बनाया जाता है ? : दोस्तों इसे समझना भी बहुत जरुरी है की लक्ष्य क्यों बनाया जाता है लक्ष्य इसलिए बनाया जाता है की आपके जीवन का कोई निष्कर्ष निकले ! ज़िंदगी जीने को तो पशु पक्षी भी जीते है वो कमाते नहीं फिर भी अपना पेट तो कहिं से भर लेते है ! अगर सिर्फ खाना पीना सोना ही है तो उन पशुओं में और इंसान में कोई फर्क नहीं है ! लक्ष्य इसलिए बनाया जाता है की जीवन का कोई उद्देश्य निकलें इस दुनिया में आये हो तो कुछ विशेष करने के लिए लक्ष्य का निर्माण किया जाता है ! एक सफल व्यक्ति बनने के लिए लक्ष्य बनाया जाता है !

लक्ष्य निर्धारण कैसे करे ?
 
जीवन लक्ष्य का निर्धारण कैसे करे इसके लिए यहाँ कुछ टिप्स दे रहा हूँ जिससे लक्ष्य निर्धारण करने में आसानी होगी :
shayarallinone
  1. लक्ष्य निर्धारण करने के लिए आपको अपने दिल की सुननी पड़ेगी आपकी किस काम में रूचि है !
  2. लक्ष्य का निर्धारण कभी दुसरो को देखकर नहीं करना चाहिए की वो यह कर रहा है तो मैं भी यह करूँगा अक्षर ऐसे लोग अपने लक्ष्य से भटक जाते है !
  3. लक्ष्य ऐसा होना चाहिए जब लक्ष्य प्राप्ति हो तो आपको अपने आप पर आपसे जुड़े लोगो को आप पर गर्व हो !
  4. लक्ष्य निर्धारण करने से पहले अपने अंदर के डर को बिलकुल ख़त्म करदे की मैं यह कर पाऊंगा की नहीं ! आपको बता दूँ की दुनिया में प्रकृति को छोड़कर ऐसा कोई काम नहीं जो असंभव हो सबकुछ संभव है  जब कोई और कर सकता है तो आप तो आप भी कर सकते हो !
  5. कुछ लोग लोगो के डर से अपने लक्ष्य को निर्धारित नहीं कर पाते तो उनसे मेरा कहना है लोग क्या कहेंगे इसका ख्याल अपने ख्यालों से हमेशा के लिए निकालदो !
  6. अपनी सोच को हमेशा सकारात्मक रखना चाहिए बस यही मन में रहना चाहिए की जो होगा अच्छे के लिए होगा !
लक्ष्य को कैसे पाया जाता है?

जब लक्ष्य निर्धारित हो जाए तो बात आती है की लक्ष्य को कैसे पाया जाए लक्ष्य को पाने के लिए जरुरत होती है मेहनत की और वो मेहनत आपको करनी पड़ेगी जब आप यह निर्धारित करलो की मेरा यह लक्ष्य है तो उसके लिए आपको हर वो सफल प्रयास करने चाहिए जिससे आप अपने लक्ष्य को प्राप्त कर सको ! लक्ष्य को पाने के लिए आपको अपनी आदतों को सुधारना पड़ेगा कुछ अच्छी आदते आपको डालनी पड़ेगी ! उन सबको avoid करो जो आपके लक्ष्य  के बिच में आते है !उन आदतों में एक यह नियम बना लो की हर दिन अपने लक्ष्य के प्रति कुछ काम आपको रोज करना है जब शाम ढले तो अपने आप से यह सवाल करो की आज आपने अपने लक्ष्य के लिए क्या किया !कभी परेशानियों से घबराना नहीं चाहिए और अपनी कमजोरियों को ढूंढे और उन्हें दूर कर अपनी ताकत बना ले फिर देखना आप वो हर चीज हासिल करोगे जो आप सोचोगे !


कैसे आप अपने लक्ष्य को आसानी से पा सकते हो उसके लिए कुछ महत्वपूर्ण बिंदु :
  1. अपने अंदर के आलस्य को हमेशा के त्याग दो और सुबह जल्दी सूर्योदय से पहले उठना चाहिए ,सुबह सुबह की हुई मेहनत आपके शरीर में पुरे दिन ऊर्जा रखती है !
  2. उन लोगो का रोज अनुसरण करें जिनको आप अपना आदर्श मानते हो !
  3. कभी कोई परेशानी से घबराना नहीं चाहिए उसका डटकर सामना करना चाहिए जीवन की इस भाग दौड़ भरी  ज़िंदगी में कई मुसीबते आती है अक्षर लोग इनको अपनी हार समझ बैठते है यह हार हार नहीं होती जीवन की इस दौड़ में अगर हमेशा के लिए जितना है तो तब तक लड़ते रहो जब तक आप अपने लक्ष्य तक ना पहुँच जाओ !
  4. हमेशा सकारात्मक सोच रखे और उन लोगो से दुरी बनाले जिनकी सोच ही नकारात्मक हो !
  5. हर दिन ऐसा काम करे जो आपके लक्ष्य से जुड़ा हो क्योंकि हर दिन उठाया हुआ आपका एक एक कदम आपको अपने लक्ष्य की और लेकर जाता है !
 
इन्हे भी पढ़े :-
  • एक लक्ष्य चुनकर उसके लिए वो सबकुछ करना जिससे उसे प्राप्त किया जाए फिर उसे प्राप्त कर लेना ही जीवन का लक्ष्य और जीवन का सारांश है !
  • कभी आपको महसूस भी हो की आप अपने लक्ष्य को पा नहीं सकोगे तो अपने लक्ष्य को नहीं अपने प्रयासों को बदले !
  • स्वयं पर विश्वास करके आप उस मकान की छत पर भी चढ़ जाओगे जिसमें कोई सीढ़ी नहीं, स्वयं पर विश्वास करके आप उस सीढ़ी को ढूंढ ही लोगे जो आपको आपके लक्ष्य तक चढ़ाये !
  • जीवन का अगर कोई लक्ष्य ना हो तो जीवन अधूरा है लक्ष्य बनाकर लक्ष्य को पाना ही जीवन पूरा है !
  • जो कमियां दुसरो में नहीं खुद में ढूंढकर उसको सुधारने का हुनर रखते है वो ही अपने लक्ष्य को पाते है !
  • दुनिया की हर वो परेशानी अपने घुटने टेक देगी जब आप उससे घबराने की बजाए उसे सुलझाने लगेंगे !
  • जीवन की इस लड़ाई में  सभी हार -जीत  सिर्फ और सिर्फ एक जीत में बदल जाती है जब आप अपने लक्ष्य को पा लेते हो !
  • जब जीवन का कोई लक्ष्य निर्धारित हो तो व्यक्ति दिन को अपने हिसाब से चलाने लगता है और जब कोई लक्ष्य ही ना हो तो दिन व्यक्ति को अपने हिसाब से चलाने लगता है !
  • जीवन में कभी अहंकार ना करना क्योंकि अहंकार कभी किसी का नहीं चला ! ऐसी उड़ान ना भरे की जमीन भी ना दिखे !
  • लक्ष्य उन्ही के पुरे होते है जिनके कुछ सपने होते है और सपने उसी के पुरे होते जिनके जीवन का कोई लक्ष्य होता है !
  • लक्ष्य पाने के लिए बहुत ज्यादा परेशानिया होती है बहुत से लोग उसके आड़े आते है बहुत से लोग आपको बहुत कुछ मना करते है लेकिन इसका मतलब यह नहीं की आप अपने लक्ष्य से भटक जाए क्योंकि कुछ तो लोग कहेंगे लोगो का काम है कहना, आपका काम है आगे बढ़ना ! अगर लोगो के डर से आप अपने आपको रोकते है तो जितनी परेशानिया आप लक्ष्य तक जाने में देखोगे उससे कई गुना ज्यादा आप परेशानियों में हर वक्त घिरे रहोगे !
निष्कर्ष : दोस्तों जीवन का कोई लक्ष्य नहीं हो तो ज़िंदगी सच में अधूरी है जिंदिगी तभी पूरी है जब आप अपने आप को एक लक्ष्य से जोड़ते है और वहां तक पहुंचते तभी ज़िंदगी पूरी है ! एक लक्ष्य आपके जीवन को बदल देता है ! आप क्या हो कैसे दिखते है कोई फर्क नहीं पड़ता अगर कोई लक्ष्य नहीं हो तो फिर बहुत फर्क पड़ता है ! और ३ इडियट फिल्म का एक संवाद जो बहुत बड़ा सन्देश देता है उसमे कहा जाता है की आप कामयाब तो बनो कामयाबी आपके पीछे दौड़ी चली आएगी ! लक्ष्य को पाने के लिए अपने आपको को उसके काबिल बनाओ अपनी कमजोरियों को ढूंढो उन्हें दूर करके अपनी ताकत बनाओ ! दोस्तों आपकी काबिलियत ही आपको कामयाब बनाती है !

Have any Question or Comment?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

shayarallinone’s calendar

December 2019
M T W T F S S
« Nov   Jan »
 1
2345678
9101112131415
16171819202122
23242526272829
3031  
previous arrow
next arrow
Slider