प्रार्थना हिंदी में | Prayer in hindi | Pray in hindi

प्रार्थना Pray | प्रार्थना हिंदी में 

आर्टिकल प्रार्थना हिंदी में : क्या है प्रार्थना ? क्यों करनी चाहिएप्रार्थना? प्रार्थना किनसे करनी चाहिए? कुछ महत्वपूर्ण विचार और सुझाव 

नमस्कार दोस्तों मैं  स्वागत करता हूँ आप सभी का हमारी अपनी वेबसाइट shayarallinone पर, मैं कोशिस करता हूँ अपनी  पोस्ट में उन बातो से अवगत कराने की जो हमारे जीवन से जुडी होती है!

प्रार्थना हिंदी में : जब हमे किसी से कुछ मांगने की जरूरत महसूस होती है तो हम कोशिस करते है की जिससे मांगे वो हमारी मांग  को पूरा करे! और उस मांगने को ही प्रार्थना का नाम दिया है! मेरे नज़रिये से प्रार्थना उनसे करनी चाहिए जो हमारी प्रार्थना को स्वीकार करे! अगर आप ईश्वर में विश्वास करते हो तो अपने ईश्वर से प्रार्थना कर सकते हो!

प्रार्थना क्यों की जाती है  | Why pray??

जब आप अपने आपको असहाय महसूस करते हो तो मदद के लिए प्रार्थना करते हो! किसी से प्रार्थना करना गलत बात नहीं है! लेकिन यह अवश्य ध्यान रहना चाहिए की आप किससे प्रार्थना कर रहे हो! एक सवाल खुद से करना की क्या वो आपकी प्रार्थना को स्वीकार करेगा? जब आप किसी काम को स्वयं कर सकते हो तो प्रार्थना करना बेकार है!

 
प्रार्थना कब और किनसे करनी चाहिए ?? | When and who should pray?

दोस्तों जब आपको वास्तव में जरुरत पड़े किसी की मदद की तो आप प्रार्थना कर सकते है! लेकिन प्रार्थना ऐसे व्यक्ति से करे जिन पर आपको पूर्ण विश्वास हो! और वो आपकी प्रार्थना को स्वीकार करे! वो व्यक्ति आपकी प्रार्थना को पूरा करे! तब प्रार्थना करने में आपका हित है! नहीं तो हर किसी से प्रार्थना करना बेकार है! प्रार्थना करना कोई छोटी बात नहीं है! एक तरह से कर्ज सा हो जाता है! जब आप किसी से मदद की गुहार करते हो ! इसलिए मेरा हमेशा यही कहना है जहाँ तक संभव हो अपने काम स्वयं करो और सही ढंग से करो फिर अगर प्रार्थना करो तो ईश्वर से करो की आपने जो भी किया उसे सफल बनाये! किसी व्यक्ति से प्रार्थना करो तो बदले में वो व्यक्ति भी आपसे कभी प्रार्थना कर सकता है उसकी प्रार्थना को जरूर स्वीकारें और पूरा करें!

प्रार्थना किस प्रकार से की जाए :

दोस्तों किसी से प्रार्थना करना भी अपने आप में बहुत बड़ी कला है आप अगर किसी से प्रार्थना मांगो तो वो मजबूर हो जाए आपकी मदद करने में ! कला इसलिए है की प्रार्थना उसी की स्वीकार होती है जो उसके योग्य होता है ! अक्षर लोग ऐसे लोगो की प्रार्थना अस्वीकार कर देते है जो प्रार्थना के योग्य ही नहीं होते ! प्रार्थना के लिए आप अपने व्यवहार को  सुधारो शब्दों में विनम्रता लाओ जिसे सुनकर या पढ़कर लोगो लगे की हाँ इसकी प्रार्थना स्वीकार की जाए ! 

मेरी हमेशा अपने ईश्वर से यही प्रार्थना रहती है की है की


प्रार्थना हिंदी में
  • मेरे ईश्वर मुझे इतनी शक्ति दे की दुनिया की सभी मुसीबतों का सामना कर जाऊं और जब तक मेरी साँसे चले तब तक तेरा साथ रहे ! मुझ पर हमेशा अपना प्यार बनायें रखना अपनी राह से कहीं भटक ना जाऊं बस सही राह दिखाते रहना। मेरी कहानी लिखने वाले मेरे भोले बाबा बस मेरे माता पिता को हमेशा खुश रखना वो ही मेरे पहले भगवान है.!
  • प्रार्थना भी एक एहसासो का एहसान है जब किसी व्यक्ति से लेन देन हो तो पूरा हिसाब रखना पड़ता है ! है ईश्वर मुझे इतनी शक्ति दे की मुझे जरुरत ना पड़े आपके सिवा किसी और से प्रार्थना करने की !


प्रार्थना कोट्स इन हिंदी | Pray quotes in hindi

  • प्रार्थना अगर करनी हो तो अपने ईश्वर से करो वो भी सच्चे मन से सच्चे मन से की गई प्रार्थना ईश्वर जरूर स्वीकार करता है ! मन की भावना अगर शुद्ध नहीं होगी तो कोई प्रार्थना स्वीकार होगी ऐसी उम्मीद कभी मत करना ! 

  • प्रार्थना करने से दो तरह के परिणाम आते है जब प्रार्थना स्वीकार हो तो आपके काम बनते है और अस्वीकार हो तो निराशा मिलती है इसलिए सोच समझकर किसी से प्रार्थना करे ! 

  • प्रार्थना वो है जो स्कूलों में सुबह सुबह होती है प्रार्थना वो है मंदिरो में सच्चे मन से होती है प्रार्थना वो है जो सच्चे मन से की जाती है चाहे वो मंदिर में हो घर में हो या कहीं और हो प्रार्थना जगह नहीं देखती प्रार्थना समय नहीं देखती प्रार्थना जब होती है पूरी तो तो एक उम्मीद जगाती है !

6 thoughts on “प्रार्थना हिंदी में | Prayer in hindi | Pray in hindi”

Comments are closed.